Bible quotes about life | जीवन के बारे में बाइबल वचन | सिखाते है जीवन का सार

Bible quotes about life, Bible verses about life, जीवन के बारे में बाइबल के वचन
Bible verses about life


Bible quotes about life : जीवन परमेश्वर की ओर से दिया गया एक अनमोल उपहार हैं. हम ना तो उसे देख सकते है या छू सकते हैं, और ना ही उसके साथ सौदा कर सकते हैं. जीवन आज हैं और कल नहीं हैं. इस लिए हमें अपने जीवन को उसी तरह जीना चाहिए, जो परमेश्वर को पसंद हैं. क्योंकि इस जीवन से भी बढ़कर जो अनंत जीवन हैं उसको हम पा सके. इसीलिए यहोवा परमेश्वर हमें नित्य जीवन के पथ चलने के लिए प्रेरित करता रहता हैं.


पवित्रशास्त्र हमें बताता है कि, परमेश्वर हमें तब से जानता हैं, जब हम गर्भ में ही रहते हैं. और तब से ही वह(परमेश्वर) हमारे जीवन के लिए कई योजनाएं बनाता हैं. जब मनुष्य परमेश्वर के विरुद्ध जीवन जीने लगा, परमेश्वर की राह से भटक कर जीवन जीने लगा, तब अपने एकलौते बेटे यीशु मसीह को भेजा, ताकि हमें न केवल पृथ्वी पर जीवन मिले, बल्कि इससे भी महत्वपूर्ण स्वर्ग के राज्य के अनन्त जीवन भी पा सके. और जब हम यीशु मसीह पर विश्वास करके जीवन जीते हैं, तो हम स्वर्ग के  अनंत जीवन पाने की पूरी क्षमता रखते हैं. क्योंकि परमेश्वर चाहता है कि, हम भरपूर जीवन का अनुभव करें.


आज हम आपके साथ बाइबिल के उन वचनों को साझा कर रहे हैं, जो आपको आपके जीवन के लिए परमेश्वर के वादों की याद दिलाएंगे. और जीवन के बारे में ये बाइबिल वचन आपकी आत्मा और आपके दिल और दिमाग में विश्वास और उद्देश्य भर देंगे. जो आपको इसका सही अर्थ और उद्देश्य खोजने में मदद करेंगे


Bible verses about life, जीवन के बारे में बाइबल के वचन


1.
क्योंकि परमेश्वर ने जगत से ऐसा प्रेम रखा कि उस ने अपना एकलौता पुत्र दे दिया, ताकि जो कोई उस पर विश्वास करे, वह नाश न हो, परन्तु अनन्त जीवन पाए.
यहुन्ना 3:16


2.
यीशु ने उस से कहा, मार्ग और सत्य और जीवन मैं ही हूं; बिना मेरे द्वारा कोई पिता के पास नहीं पहुंच सकता.
यहुन्ना 14:6


3.
क्योंकि पाप की मजदूरी तो मृत्यु है, परन्तु परमेश्‍वर का वरदान हमारे प्रभु मसीह यीशु में अनन्त जीवन है.
रोमियों 6:23


4.
चोर किसी और काम के लिये नहीं परन्तु केवल चोरी करने और घात करने और नष्ट करने को आता है। मैं इसलिये आया कि वे जीवन पाएं, और बहुतायत से पाएं.
यहुन्ना 10:10


5.
यीशु ने उनसे कहा, “जीवन की रोटी मैं हूँ : जो मेरे पास आता है वह कभी भूखा न होगा, और जो मुझ पर विश्‍वास करता है वह कभी प्यासा न होगा.
यहुन्ना 6:35

6.
जो कोई धर्म और कृपा का पीछा करता है, वह जीवन, धर्म और महिमा भी पाता है.
नीतिवचन 21:21


7.
जैसे जल में मुख की परछाई मुख को प्रगट करती हैं, मनुष्य का मन मनुष्य को प्रगट करता हैं.
नीतिवचन 27:19


8.
यीशु ने उससे कहा, “पुनरुत्थान और जीवन मैं ही हूं. जो कोई मुझ पर विश्वास करता है, वह यदि मर भी जाए, तो भी जिएगा.
यूहन्ना 11:25


9.
यीशु ने फिर लोगों से कहा, “जगत की ज्योति मैं हूं. जो मेरे पीछे हो लेगा, वह अन्धकार में न चलेगा, परन्तु  जीवन की ज्योति पाएगा”.
यहुन्ना 8:12


10.
जीभ के वश में मृत्यु और जीवन दोनों होते हैं, और जो उसे काम में लाना जानता हैं, वह उसका फल भोगेगा.
नीतिवचन 18:21




11.
और जो कोई जीवित है और मुझ पर विश्वास करता हैं वह अनंतकाल तक न मरेगा. क्या तुम इस बात पर विश्वास करती हैं.
यहुन्ना 11.26


12.
यहोवा का भय मानना ​​जीवन का सोता है, जो मनुष्य को मृत्यु के फन्दों से फेर देता है.
नीतिवचन 14:27


13.
क्योंकि जो कोई जीवन की इच्छा रखता है, और अच्छे दिन देखना चाहता है, वह अपनी जीभ को बुराई से, और अपके होंठों को छल की बातें करने से रोके रहे.
1 पतरस 3:10


14.
क्योंकि बैरी होने की दशा में उसके पुत्र की मृत्यु के द्वारा हमारा मेल परमेश्वर के साथ हुआ, तो फिर मेल हो जाने पर उसके जीवन के कारण हम उद्धार क्यों न पायेंगे.
रोमियों 5:10


15.
विश्वास की अच्छी कुश्ती लड़; और उस अनन्त जीवन को धर ले, जिसके लिये तू बुलाया गया, और बहुत से गवाहों के साम्हने अच्छा अंगीकार किया था.
1 तीमुथियुस 6:12


16.
और यहोवा परमेश्वर ने कहा, मनुष्य भले बुरे का ज्ञान पाकर हम में से एक के सामान हो गया हैं: इसलिए अब ऐसा न हो कि, वह हाथ बढ़ाकर जीवन के वृक्ष का फल भी तोड़ के खा ले और सदा जीवित रहे."
उत्पत्ति 3:22


17.
मैं तुम से सच सच कहता हूँ कि जो कई विश्वास करता है, अनंत जीवन उसी का हैं.
यहुन्ना 6;47


18.
मैं आज आकाश और पृथ्वी दोनों को तुम्हारे सामने इस बात की साक्षी बनाता हूँ, कि मैं ने जीवन और मरन आशीष और शाप को तुम्हारे सामने रखा हैं; इसलिए तू जीवन को ही अपना ले, कि तू और तेरा वंश जीवित रहे.
व्यवस्थाविवरण 30:19


19.
मुझे मसीह के साथ क्रूस पर चढ़ाया गया हूँ, अब मैं जीवित न रहा, पर मसीह मुझ में जीवित है; और मैं शारीर में अब जो जीवित हूं तो केवल उस विश्वास से जीवित हूं, जो परमेश्वर के पुत्र पर है, जिस ने मुझ से प्रेम किया, और मेरे लिये अपने आप को दे दिया.
गलातियों 2:20


20.
और जिसकी उसने हम से प्रतिज्ञा की वह अनन्त जीवन है.
1 यूहन्ना 2:25




life bible verses



21. 
जो अपके मुंह की चौकसी  करता है, वह अपके प्राण की रक्षा करता है; जो जो गाल बजाता है उसका विनाश हो जाता हैं.
नीतिवचन 13:3


22.
शरीर पर मन लगाना तो मृत्यु है, पर आत्मा पर मन लगाना जीवन और शान्ति है.
रोमियों 8:6


23.
तू मुझे जीवन का रास्ता दिखायेगा; तेरे निकट आनन्द की भरपूरी है; तेरी दहिनी हाथ में सुख सर्वदा बना रहता हैं.
भजन संहिता 16:11


24.
यहोवा परमेश्वर मेरी ज्योति और मेरा उद्धार है; मैं किस से डरूं? यहोवा मेरे जीवन का दृढ़ गढ़ ठहरा  है; मैं किस का भय खाऊ?
भजन सहिंता 27:1


25.
हे यहोवा पर आशा रखनेवालो, हियाव बांधो और तुम्हारे ह्रदय दृढ़ रहे.
भजन संहिता 31:24


26.
मैं ने ये बाते तुम से इसलिए कहीं हैं कि, तुम्हे मुझ में शांति मिले. संसार में तुम्हें क्लेश होता है, परन्तु ढाढस बांधो, मैं ने संसार को जीत लिया है."
यूहन्ना 16:33


27.
 मत डर, क्योंकि मैं तेरे संग हूं; इधर उधर मत ताक, क्योंकि मैं तेरा परमेश्वर हूं; मैं तुझे दृढ़ करूंगा और तेरी सहायता करूंगा; अपने धर्ममय दाहिने हाथ से तुझे संभाले रहूंगा.
यशायाह 41:10


28.
और अनन्त जीवन यह है, कि वे तुझ एकमात्र सच्चे परमेश्‍वर को और यीशु मसीह को, जिसे तूने भेजा है, जानें. 
यूहन्ना 17:3


29.
जो पुत्र पर विश्वास करता है, अनन्त जीवन उसका है; परन्तु जो पुत्र की नहीं मानता, वह जीवन को नहीं देखेगा, परन्तु परमेश्‍वर का क्रोध उस पर रहता है.
यूहन्ना 3:36


30.
वह मैं ऐसा इसलिए कर रहा हूँ कि परमेश्वर के चुने हुओं को अनन्त जीवन की आस बँधे। परमेश्वर ने, जो कभी झूठ नहीं बोलता, अनादि काल से अनन्त जीवन का वचन दिया है.
तीतुस 1:2


31. 
कि यदि तू अपने मुँह से कहे, यीशु मसीह प्रभु है, और तू अपने मन में यह विश्वास करे कि परमेश्वर ने उसे मरे हुओं में से जीवित किया तो तेरा उद्धार हो जायेगा.
रोमियों 10:9


32.
मैं तुम्हें सत्य बताता हूँ जो मेरे वचन को सुनता है और उस पर विश्वास करता है जिसने मुझे भेजा है, वह अनन्त जीवन पाता है। न्याय का दण्ड उस पर नहीं पड़ेगा। इसके विपरीत वह मृत्यु से जीवन में प्रवेश पा जाता है”
यूहन्ना 5:24


33.
अब परमेश्वर ने हमें अपनी अनुग्रह के द्वारा निर्दोष ठहराया है ताकि जिसकी हम आशा कर रहे थे उस अनन्त जीवन के उत्तराधिकार को पा सकें”
तीतुस 3:7


34.
परमेश्वर में विश्वास रखने वालो, तुमको ये बातें मैं इसलिए लिख रहा हूँ जिससे तुम यह जान लो कि अनन्त जीवन तुम्हारे पास है.
1 यूहन्ना 5:13


35.
यीशु ने उससे कहा, “मैं ही पुनरुत्थान हूँ और मैं ही जीवन हूँ। वह जो मुझमें विश्वास करता है जियेगा। 26 और हर वह, जो जीवित है और मुझमें विश्वास रखता है, कभी नहीं मरेगा। क्या तू यह विश्वास रखती है”
यूहन्ना 11:25-26


ये भी पढ़े ;



आशा करते है Bible verses about life आपको मसीह जीवन जीने में आगे बढ़ने के लिए मददगार साबित होंगे.

ऐसे ही बाइबिल वचनों को पढ़ने के लिए येशु की महिमा (www.yeshukimahima.in) के साथ जुड़े रहे. धन्यवाद

Previous
Next Post »

ConversionConversion EmoticonEmoticon

टिप्पणी: केवल इस ब्लॉग का सदस्य टिप्पणी भेज सकता है.